वर्तमान और भविष्य के जलवायु परिदृश्यों के तहत जीका वायरस के प्रसार के जोखिम का आकलन

वर्तमान और भविष्य के जलवायु परिदृश्यों के तहत जीका वायरस के प्रसार के जोखिम का आकलन

दुनिया भर में ZIKV के शहरी चक्र क्षेत्र और सिल्वेटिक चक्र क्षेत्र का अनुमान लगाना और देखे गए रिकॉर्ड, ऐतिहासिक “जैव जलवायु” चर, जनसंख्या डेटा और अनुमानित वेक्टर वितरण डेटा के आधार पर इसके भविष्य के रुझानों की भविष्यवाणी करना बहुत महत्वपूर्ण है।

ZIKV का 86 देशों में विस्तार किया गया है। सिल्वेटिक सर्कुलेशन और शहरी सर्कुलेशन के बीच संबंध का समर्थन करने वाले बहुत सारे सबूत थे।

इस शोध के नतीजे बताते हैं कि दुनिया के 16.6% भूभाग (अंटार्कटिका को छोड़कर) एक जोखिम वाला क्षेत्र है। दक्षिण एशिया, मध्य अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका, उत्तरी अमेरिका और भूमध्य सागर के आसपास के देशों में विशाल बहुमत के साथ लगभग 6.22 बिलियन लोग (वैश्विक जनसंख्या का 78.69%) जोखिम वाले क्षेत्र में रहते हैं। सिल्वेटिक चक्र कर्क रेखा और मकर रेखा के बीच होता है। शहरी और सिल्वेटिक चक्रों का ओवरलैप क्षेत्र हॉटपॉट हो सकता है जो ZIKV सिल्वेटिक चक्र से शहरी चक्र तक फैलता है।

भविष्य के जलवायु परिवर्तन से ZIKV का जोखिम क्षेत्र कम हो जाता है। हालांकि, इस शोध के नतीजे बताते हैं कि लंबी अवधि के यात्री स्क्रीनिंग, मच्छर निगरानी और नियंत्रण अभी भी जरूरी है।

कीवर्ड: जीका वायरस, एडीज एजिप्टी, एडीज एल्बोपिक्टस, स्पीशीज डिस्ट्रीब्यूशन मॉडलिंग, मैक्सएंटअर्बन साइकिल, सिल्वेटिक साइकिल

/सार्वजनिक विज्ञप्ति। मूल संगठन/लेखक (लेखकों) की यह सामग्री समय-समय पर प्रकृति की हो सकती है, स्पष्टता, शैली और लंबाई के लिए संपादित की गई है। व्यक्त किए गए विचार और राय लेखक (ओं) के हैं। यहां पूरा देखें।

Be the first to comment

Leave a comment

Your email address will not be published.


*